Best 5 Mantra for Power of Concentration

5 Mantra for Power of Concentration
5 Mantra for Power of Concentration

What Helps to Develop The Power of Concentration?

Power of Concentration:- कोई भी काम एकाग्र होकर करने पर उसमें सफलता (Success) अवश्य मिलती है। पर कैसे बनाएं एकाग्रता, ताकि ध्यान भंग न हो ?

एक सफल व्यक्ति से किसी ने पूछा कि उनकी सफलता और महानता का राज क्या है? इसके जवाब में उन्होंने तुरंत कहा, ‘जब मैं अपने बाल संवार रहा होता हूं, तो उस समय उसके सिवाय मैं और कुछ नहीं सोचता।’ इस सांकेतिक जवाब के पीछे काफी गूढ़ अर्थ छिपा था। इस उत्तर से उनका तात्पर्य था कि वे एक समय में जो भी काम करते हैं, उनका पूरा ध्यान उसी पर होता है। उनकी सफलता का राज भी इसी में है, क्योंकि एकाग्रता से ही उन्हें सफलता की ताकत मिलती है।

गुरु द्रोणाचार्य जब अपने शिष्यों की परीक्षा ले रहे थे, तब सभी से उन्होंने एक चिड़िया पर निशाना लगाने के लिए कहा। निशाने लगाने के दौरान उन्होंने सभी से पूछा कि उसे क्या दिख रहा है, तो किसी ने जिस वृक्ष पर चिड़िया बैठी थी, उसके बारे में बताया, तो किसी ने कहा कि उसे पेड़ के पत्ते दिख रहे हैं।

जब उन्होंने अपने होनहार शिष्य अर्जुन से यही प्रश्न पूछा, तो जवाब में अर्जुन ने कहा कि उन्हें चिड़िया की आंख के अलावा और कुछ भी नहीं दिखाई दे रहा है। इस जवाब से गुरु द्रोण बेहद खुश हुए, क्योंकि उन्हें अपना सच्चा शिष्य मिल गया था। उन्हें इस बात पर गर्व था कि अर्जुन का पूरा ध्यान अपने लक्ष्य पर था।

5 मंत्र एकाग्रता के लिए – Helps to Develop The Power of Concentration

1. एक समय में – एक ही काम पर पूरा ध्यान दें।

2. अति-उत्साह में एक साथ कई काम न करें। इससे किसी में सफलता नहीं मिलेगी।

3. एक काम पूरा करने के बाद ही दूसरे काम में हाथ लगाएं।

4. ध्यान विचलित न होने दें।

5. विचलन को रोकने के लिए योगाभ्यास करें।

बचें भटकाव से (Avoid Distraction)

 आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में अधिकांश लोग, खासकर स्टूडेंट्स किसी भी काम पर अपना ध्यान एकाग्र नहीं कर पाते। फलतः उन्हें मंजिल तक पहुंचने में नाकामयाबी ही हाथ लगती है। अधिकांश स्टूडेंट्स के सामने भी यही समस्या आती है। जब वे पुस्तक खोलकर बैठते हैं, तो अक्सर उसमें लिखी बातें इसलिए उनकी समझ में नहीं आती, क्योंकि उनका ध्यान कहीं और होता है।

वे पन्ने पर पन्ने पलटते चले जाते हैं, पर उनके दिमाग में कुछ नहीं घुसता। इससे समय तो नष्ट होता ही है, उनकी हताशा भी बढ़ती है। दरअसल, ध्यान भंग होने के कारण यही हैं कि उनका दिमाग कई तरफ लगा रहता है। अगर तमाम कोशिशों के बावजूद दिमाग विचलित रहे,

तो आपको थोड़ा-बहुत योग करना चाहिए।  इससे भटकाव खत्म होगा और किसी भी विषय पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी। अनुशासित जीवन जिएं जीवन में अनुशासन का काफी महत्व होता हैं। इसकी अवहेलना करने पर आपको हर तरफ नुकसान ही होगा। इसलिए बेहतर यही होगा कि आप अपनी दैनिक दिनचर्या से लेकर खान-पान तक को अनुशासित रखें। सुबह एक निश्चित समय पर सोकर उठें और नियम व समय से दैनिक कार्य निपटाएं।

याद रहे, व्यवस्थित जीवन जीने से न केवल आपकी एकाग्रता की क्षमता बढ़ेगी, बल्कि आप किसी भी विषय पर अपना ध्यान केंद्रित करने में सक्षम हो सकेंगे। जब आप अध्ययन कर रहे हों, तो कोशिश करें कि ‘आपके दिमाग में उससे अलग और कोई बात न आए। इसके लिए पहले से यह मानकर चलें कि अच्छी पढ़ाई से आपको सुखद व बेहतरीम परिणाम हासिल हो सकता है, जो आपके उज्ज्वल व चमकदार भविष्य के लिए सहायक साबित होगा।

Read Also:-

SWAMI VIVEKANANDA QUOTES IN HINDI|स्वामी विवेकानंद के सुविचार 51

सफलता के सूत्र – Formula for Success

‘सफल मनुष्य अपनी मजबूत बुनियाद उन पत्थरों से निर्मित करता है, जो दूसरे लोग उसकी तरफ फेंकते हैं। -डेविड ब्रिकले

‘बिना क्रोध में आए तथा आत्मविश्वास खोए बिना सुनने की कला का नाम ही शिक्षा है। -राबर्ट फ्रॉस्ट

 ‘परिपक्वता की शुरुआत तब होती है, जब हम किसी चीज को सही समझते हैं तथा दूसरों को गलत साबित करने की इच्छा नहीं होती। -सिडनी हैरिस

‘मनुष्य परिस्थितियों की उपज नहीं है, बल्कि वह खुद परिस्थितियों का निर्माण करता है।’ -बेंजामिन डिजरैली

Previous article20 Student Interesting Facts in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here