Home Health Tips Haldi Ke Benefits in Hindi : हल्दी के 21 फायदे और उपयोग

Haldi Ke Benefits in Hindi : हल्दी के 21 फायदे और उपयोग

Haldi Ke Benefits in Hindi
Haldi Ke Benefits in Hindi
अनुक्रम दिखाएँ

Haldi Ke Benefits in Hindi : हल्दी के फायदे और उपयोग

Haldi Ke Benefits in Hindi:- भारतीय मसालों में हल्दी (Haldi) का एक अलग ही स्थान है। यही कारण है कि आपको हर घर की रसोई में हल्दी (Haldi) ज़रूर मिलेगी। हल्दी खाने का स्वाद और रंग रूप तो बढ़ाती ही है साथ ही यह कई तरह के रोगों से भी रक्षा करती है। प्राचीन काल से ही हल्दी को जड़ी बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। आयुर्वेद में हल्दी के फायदे के बारे में विस्तृत उल्लेख है। इस लेख में हम आपको हल्दी के फायदे – नुकसान और खाने के तरीके के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

हल्दी क्या है? (What is Haldi in Hindi?)

हल्दी एक जड़ी-बूटी है। इसका इस्तेमाल मसालों के रुप में प्रमुखता से किया जाता है। हिंदू धर्म में पूजा में या कोई भी शुभ काम करते समय हल्दी का उपयोग किया जाता है। खाने के अलावा कई तरह की बीमारियों से बचाव में भी हल्दी का उपयोग होता है। इस समय पूरी दुनिया में हल्दी के गुणों पर रिसर्च चल रहे हैं और कई रिसर्च आयुर्वेद में बताए गुणों कि पुष्टि करते हैं।

हल्दी की कई प्रजातियाँ पाई जाती हैं, जिनमें मुख्य रूप से निम्नलिखित चार प्रजातियों का प्रयोग चिकित्सा में किया जाता है।

  • Curcuma longa : हल्दी की इस प्रजाति का उपयोग मुख्य रुप से मसालों और औषधियों के रूप में किया जाता है। इसके पौधे 60-90 सेमी तक ऊँचें होते हैं। इस हल्दी का रंग अंदर से लाल या पीला होता है। यही वह हल्दी है जिसका उपयोग हम अपने घरों में सब्जी बनाने में करते हैं।
  • Curcuma aromatica:  इसे जंगली हल्दी कहते हैं।
  • Curcuma amada: इस हल्दी के कन्द और पत्तों में कपूर और आम जैसी महक होती है। इसी वजह से इसे आमाहल्दी (Mango ginger) कहा जाता है।
  • Curcuma caesia: -इसे काली हल्दी कहते हैं। मान्यताओं के अनुसार इस हल्दी में चमत्कारिक गुण होते हैं। इस हल्दी का उपयोग ज्योतिष और तंत्र विद्या में ज्यादा होता है।

अन्य भाषाओं में हल्दी के नाम  (Name of Haldi in Different languages) :

  • हल्दी का वानस्पतिक नाम Curcuma longa Linn. (कुरकुमा लौंगा) Syn-Curcuma domesticaValeton 
  • कुल का नाम Zingiberaceae (जिन्जिबेरेसी) है।  

अन्य भाषाओं में इसे निम्न नामों से पुकारा जाता है।

Names of Turmeric in different languages:

  • Name of Haldi in English : Turmeric (टर्मेरिक्)
  • Name of Haldi in Sanskrit : हलदी, गौरी, अनेष्टा, हरतीहरिद्रा, काञ्चनी, पीता, निशाख्या, वरवर्णिनी, रजनी, रंजनी, कृमिघ्नी, योषित्प्रिया, हट्टविलासिनी;
  • Name of Haldi in Hindi : हल्दी,हलदी, हर्दी ;
  • Name of Haldi in Urdu : हलदी (Haladi)
  • Name of Haldi in Asam : हलादी (haladhi);
  • Name of Haldi in Konkani : हलद (Halad);
  • Name of Haldi in Kannada : अरिसिन (Arisin),अरसिन (Arsina)
  • Name of Haldi in Gujrati : हलदा (Halada);
  • Name of Haldi in Tamil : मंजल (Manjal)
  • Name of Haldi in Telgu : पसुपु (Pasupu), पाम्पी (Pampi)
  • Name of Haldi in Bengali : हलुद (Halud), पितरस (Pitras);
  • Name of Haldi in Punjabi : हलदी (Haldi), हलदर (Haldar);
  • Name of Haldi in Marathi : हलद (Halade), हलदर (Haldar);
  • Name of Haldi in Malyalam : मन्नाल (Mannal), पच्चामन्नाल ( pacchamannal),मन्जल (Manjal);
  • Name of Haldi in English : कॉमन टर्मेरिक (Commonturmeric), इण्डियन सैफरन (Indian saffron),
  • Name of Haldi in Arabi : उरुकेस्सुफ (Urukessuf), कुरकुम (Kurkum);
  • Name of Haldi in Persian : जर्द चोब (Zard chob), दारजरदी (Darjardi)

हल्दी के गुण फायदे एवम उपयोग { Turmeric gun benefits upyog in hindi : Haldi Ke Benefits in Hindi }

1.हल्दी कैंसर की बीमारी रोके

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर की कुछ कोशिकाएं हमारे शरीर के विपरीत काम करने लगती है| हल्दी का सेवन करने से कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाएं नष्ट होती है, व हल्दी इन्हें बढ़ने से रोकती है| खाली पेट हल्दी खाने से शरीर के अंदर सारे विषेले पदार्थ निकल जाते है व कैंसर के होने चांस भी बहुत कम हो जाता है|

2.हल्दी गठिया रोग में आराम दे –

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती है जो शरीर में फ्री रेडिकल्स को नस्त करती है जो शरीर की दूसरी कोशिकाओं को प्रभावित करते है| रोज हल्दी खाने से गठिया का दर्द में बहुत आराम मिलता है|

3.हल्दी कोलेस्ट्रोल कम करे –

हल्दी खाने से कोलेस्ट्रोल की मात्रा बहुत हद तक कम होती है| ये हम सब को पता है कि शरीर में अगर कोलेस्ट्रोल बढ़ता है तो अन्य बहुत सी बीमारियाँ भी पीछे पीछे आ जाती है| हल्दी से हम इससे बच सकते है|

4.हल्दी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये –

हल्दी में मौजूद एन्तिबैक्टेरिया, एन्तिफंगल तत्व शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते है| सर्दी खांसी जुखाम फ्लू से ये हमें बचा के रखता है| इसके लिए आपको हल्दी वाला दूध (milk) पीना चाहिए| डॉक्टर भी इसे बहुत फायदेमंद मानते है| 1 गिलास गर्म दूध में 1 चम्मच हल्दी डाल कर पियें| ठण्ड के दिनों में इसे रोज रात को सोने से पहले पीना चाहिए| इससे शरीर में सर्दी तो जाएगी साथ ही छोटे मोटे दर्द से भी आराम मिलेगा|

5.डायबटीज –

हल्दी डायबटीज वालों के लिए फायदेमंद है| इससे शरीर में गुलुकोसे की मात्रा कंट्रोल में रहती है| हल्दी की कैप्सुल भी आती है जिसे डॉक्टर की सलाह के अनुसार लेना चाहिए|

6.हल्दी घाव मिटाए –

हल्दी कई सालों से एक एंटीसेप्टिक की तरह उपयोग हो रहा है, कही पर भी कटे हुए पर हल्दी लगाने से खून बंद हो जाता है, व वह घाव जल्दी भर जाता है| स्किन में होने वाले इन्फेक्शन को भी हल्दी दूर करता है|

7.हल्दी वजन कंट्रोल करे –

वजन कम करने के लिए हल्दी बहुत पावरफुल है| हल्दी में मौजूद तत्व शरीर में फैट कम करते है| वजन कम करने के चाह रखने वालो को 1 चम्मच हल्दी अपने खाने में शामिल करना चाहिए|

8.हल्दी पाचन सही करे –

हल्दी खाने से पाचनतंत्र में कोई परेशानी नहीं आती है, इससे गैस एसिडिटी की भी परेशानी दूर होती है| अगर किसी को गाल्ब्लाडर में कुछ परेशानी है तो उसे हल्दी का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए|

9.हल्दी लीवर के लिए लाभदायक –

हल्दी खाने से खून साफ़ होता है, इससे पेट के सरे विषेले पदार्थ निकल जाते है|

10.हल्दी सौदर्य बढ़ाये –

हल्दी उपटन हम बचपन से सुनते व उपयोग करते आ रहे है| हल्दी सौदर्य की द्रष्टि से बहुत गुणकारी होती है, इसे लगाने से दाग डब्बे दूर होते है चेहरा खिल उठता है| यही वजह है कि शादी के समय हल्दी की एक अलग से रस्म होती है जिसमें दुल्हन व दुल्हे को हल्दी लगाई जाती है जिससे उनका चेहरा चमक उठे| हल्दी को काफी शुभ भी माना जाता है, इसे हर शुभ काम शादी विवाह पूजा पाठ में उपयोग किया जाता है| हल्दी को बेसन दूध के साथ मिलाकर लगाने से बहुत फायदा मिलता है|

11.शरीर से अनचाहे बाल हटाये –

शरीर में मौजूद अनचाहे बाल चाँद में दाग के सामान है, जिसे हर लड़की अपनी सौन्दर्यता का दुश्मन मानती है, इस परेशानी को दूर करने के लिए हल्दी आपकी मदद करेगी| हल्दी में नारियल तेल मिलाकर गर्म करें अब इसे जहाँ अनचाहे बाल है वहां लगायें| कुछ दिन में आपको फर्क जरुर समझ आएगा|

12.टैनिंग हटाये –

धुप से होने वाली टैनिंग को हम हल्दी के द्वारा दूर कर सकते है| हल्दी को दूध में मिलाकर लगायें, टैनिंग हटेगी व स्किन में निखार आएगा|

13.हल्दी दांत का दर्द दूर करे –

दांत दर्द को धृ में ठीक करने के लिए हल्दी लाभकारी है| हल्दी में सरसों तेल व नमक मिलाकर दर्द वाले स्थान पर लगायें| बहुत जल्द आराम मिलेगा|

14.हल्दी की सामान्य ख़ुराक (Dosages of Haldi in Hindi)
आमतौर पर 1-2 ग्राम हल्दी का रोजाना सेवन करना सेहत के लिए उपयुक्त है। अगर आप किसी ख़ास बीमारी के लिए हल्दी का उपयोग करना चाहते हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह के अनुसार करें।  
 15.अल्जाइमर रोग से बचाव
हल्दी मस्तिष्क में प्लाक के गठन को हटाने और ऑक्सीजन के प्रवाह को सुधारने में सहायता करते हुए समग्र मस्तिष्क स्वास्थ्य का समर्थन करती है. यह अल्जाइमर रोग की गति को धीमा कर सकती है या फिर उस पर रोक भी लगा सकती है.
FAQ related to Haldi in Hindi : हल्दी से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

FAQ.1- क्या हल्दी के सेवन से इम्यूनिटी बढ़ती है?

हाँ, विशेषज्ञों के अनुसार हल्दी का सेवन इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है। सर्दियों के मौसम में या फिर मौसम में बदलाव के दौरान अक्सर हम लोग जल्दी -जल्दी बीमार पड़ जाते है और हमें ठीक होने में भी समय लगता है। वास्तव में इम्यूनिटी का कमजोर होना ही इसका मुख्य कारण है। इसलिए सर्दियों के मौसम में या मौसम में बदलाव के दौरान अपने खानपान में हल्दी ज़रूर शामिल करें।

FAQ.2- क्या हल्दी दूध पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है?

हल्दी अपने आप में कई गुणों से भरपूर है और जब आप इसका सेवन दूध में मिलाकर करते हैं तो इसके फायदे कई गुना बढ़ जाते हैं. हल्दी वाला दूध बनाना भी बहुत आसान है. एक गिलास दूध में एक चुटकी हल्दी डालकर अच्छे से उबाल लें और फिर गुनगुना होने पर इसका सेवन करें. इसे ही हल्दी दूध या गोल्डन मिल्क (Golden Milk) कहा जाता है. सर्दी-जुकाम से आराम पाने का यह अचूक उपाय है इसके अलावा शरीर में दर्द होने पर या ठंड लगने पर इसका सेवन करना बहुत उपयोगी होता है. 

FAQ.3-  सर्दी-जुकाम से जल्दी आराम पाने के लिए हल्दी का इस्तेमाल कैसे करें?

जुकाम होना एक आम समस्या है और अधिकांश लोग जुकाम से राहत पाने के लिए घरेलु उपायों का ही प्रयोग करते हैं. हल्दी का सेवन जुकाम से राहत दिलाने में बहुत उपयोगी माना जाता है. आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का मानना है कि जुकाम से जल्दी राहत पाने के लिए रात में सोते समय हल्दी दूध का सेवन करना चाहिए. 

FAQ.4- क्या सर्दियों के मौसम में हल्दी का सेवन करना चाहिए?

सर्दी का मौसम आते है कई प्रकार के रोग होना शुरू हो जाते है चाहे वो सर्दी-जुकाम हो या फिर जोड़ों का दर्द। ये सभी समस्यायें सर्दी के मौसम को कई लोगों के लिए दुखदायी बना देती हैं. आयुर्वेद के अनुसार हल्दी के सेवन से आप इन रोगों को कुछ हद तक घर पर ही ठीक कर सकते है। इसलिए सर्दियों के मौसम में आयुर्वेदिक चिकित्सक भी हल्दी के सेवन की सलाह देते हैं. इस बात का ध्यान रखें कि जरूरत से ज्यादा मात्रा में हल्दी का सेवन करना नुकसानदायक भी हो सकता है इसलिए सर्दी या गर्मी कोई भी मौसम हो हल्दी का सेवन हमेशा सीमित मात्रा में ही करें।

FAQ.5- क्या अस्थमा के मरीजों के लिए हल्दी का सेवन फायदेमंद होता है?

फेफड़ों के रोगों में हल्दी का सेवन फायदेमंद होता है जैसे अस्थमा की समस्या। अस्थमा में जमे हुए कफ को दूर करने में हल्दी मदद करती है जिससे अस्थमा के लक्षणों में कमी होने लगती है। इसीलिए अस्थमा के मरीजों को हल्दी के सेवन की सलाह दी जाती है. अगर आप अस्थमा के मरीज हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह के अनुसार हल्दी का नियमित सेवन करें।

Read Also:-

हल्दी को लेने के बहुत तरीके है, इसे आप खाने में मिलाकर,शेक,सूप,सलाद में, व कैप्सूल के रूप में ले सकते है | हल्दी से हमें बहुत लाभ मिलते है, इसके बहुत से लाभ मैंने आपको बताये इसके अलावा आप कोई फायदे जानते है तो हमारे साथ शेयर करें|

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here