D2M Technology Kya Hai?

D2M Technology
D2M Technology

D2M Technology Kya Hai ?

D2M Technology Kya Hai ?:- जब हमारे लाइफ में इंटरनेट आया तो इंटरनेट पूरे विश्व का जरुरत बन गया लेकिन अब भविष्य में Internet की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि आने वाले दिनों में आप बिना इंटरनेट के ही विडियो, क्रिकेट, फिल्में और अन्य मल्टीमीडिया कंटेंट सीधे अपने मोबाइल पर देख सकेंगे ऐसा D2M Technology यानि डायरेक्ट टू मोबाइल ब्राडकास्टिंग टेक्नोलॉजी के जरिए सम्भव होगा।

D2M टेक्नोलॉजी से आप बिना इंटरनेट कनेक्शन के ही अपना पसंदीदा वीडियो या अन्य मल्टीमीडिया कंटेंट अपने मोबाइल में देख सकेंगे। आज हम इस पोस्ट में D2M Technology के बारे में जानेंगे। D2M Technology क्या है?, इसका फुल फॉर्म क्या है ?, इसके क्या फायदे हैं ? यह कैसे काम करता है, तो आइए जानते हैं इसके बारे में।

D2M टेक्नोलॉजी इंटरनेट कनेक्शन के आवश्यकता के बिना विडियो और मल्टीमीडिया सामग्री के अन्य रूपों को सीधे मोबाइल पर चलाने की अनुमति देती है।
इसमें बिना इंटरनेट के सीधे आपके फोन पर फिल्मों से लेकर हॉटस्टार,सोनी लाइव,जी फाइव, अमेजन प्राइम और नेटफ्लिक्स जैसे OTT( over the Top ) कंटेंट समेत अन्य मल्टीमीडिया कंटेंट प्रसारित किये जा सकेंगे।

D2M Technology Full form

D2M Technology का फुल फॉर्म Direct to Mobile है।

D2M Technology को लाने की आश्यकता क्यों पड़ी ?

इस टेक्नोलॉजी को को लाने की जरूरत इसलिए आयी क्योंकि इसमें नागरिकों से जुड़ी किसी खास जानकारी को सीधे उनके मोबाइल में प्रसारित किया जा सकेगा जिससे फेंक न्यूज रोकने, आपातकालीन अलर्ट जारी करने और आपदा प्रबंधन में सहायता करने में मदद मिलेगी।

D2M Technology से लाइव न्यूज भी जुड़ेंगी जिससे हम लोग आगे चलकर देख सकेंगे साथ ही साथ स्पोर्ट्स जिसमें क्रिकेट, फुटबॉल आदि सब बिना इंटरनेट और बिना बफरिंग के डायरेक्ट अपने मोबाइल पर देख सकेंगे।

D2M Technology के क्या फायदे हैं ?

इसका टेक्नोलॉजी का सबसे बड़ा लाभ consumers को होगा क्योंकि इस टेक्नोलॉजी में इंटरनेट का इस्तेमाल हो ही नहीं रहा है इसलिए स्लो इंटरनेट कनेक्शन,खराब Video Quality और Buffering जैसी समस्या से राहत मिल सकेगी।

उपभोक्ता के लिए सबसे बड़ा फायदा यह भी है कि जितने भी Video on demand (VoD) या Over the Top (OTP) वाले कन्टेंट है वो बाद में जाकर जब D2M Technology से जुड़ेंगे तो ऐसे में आप OTT वाले कन्टेंट Netflix, Amazon prime आदि सब देख सकेंगे।

गांवों में या rural areas में Internet की बहुत limited access होती है या इंटरनेट पहुंच ही नहीं पाती है जिससे video content नहीं देख पाते हैं।इस D2M टेक्नोलॉजी के माध्यम से गांवों में भी बिना Internet के video content देख सकेंगे।

मोबाइल यूजर्स बिना Internet डेटा का इस्तेमाल किए बिना ही बहुत ही कम दर पर अपना पसंदीदा वीडियो और अन्य मल्टीमीडिया कान्टेंट अपने मोबाइल में लाइव देख सकेंगे। डेटा खर्च नहीं होने से स्मार्टफोन यूजर्स को कम पैसों में भी सुविधा मिलेगी।

मोबाइल आपरेटर्स विडियो का लोड हटने से कीमती स्पेक्ट्रम बचा पाएंगे और मोबाइल आपरेटर्स को कॉल ड्राप घटाने और डेटा स्पीड बढ़ाने में मदद मिलेगी।

इसका उपयोग fake news रोकने, आपातकालीन अलर्ट जारी करने और आपदा प्रबंधन में सहायता प्रदान करने के साथ-साथ अन्य चीजों के लिए भी किया जा सकता है।

D2M Technology आने से देश में न्यूज, स्पोर्ट्स देखना कई गुना बढ़ जाएगा। इसके आने से ब्राडकास्टर को फायदा होगा क्योंकि नये दर्शक मिलेंगे यानी गांव के लोग भी देखना शुरू कर देंगे।

D2M Technology कैसे काम करता है ?

D2M टेक्नोलॉजी ब्राडबैंड और ब्राडकास्ट का काम्बिनेशन है जिसके इस्तेमाल से मोबाइल फ़ोन digital terrestrial टीवी सिग्नल को पकड़ सकता है। और इसकी मदद से मोबाइल यूजर्स बिना इंटरनेट डेटा का इस्तेमाल किए बिना ही विडियो कंटेंट और अन्य मल्टीमीडिया कंटेंट देख सकते हैं।

जिस प्रकार आप अपने मोबाइल से FM सुनते है और इसमें wire कनेक्शन की जरूरत नहीं होती है और फोन में लगा receiver रेडियो आवृत्ति (Frequency) को पकड़ता है। इसी तरह D2M Technology से फोन पर सीधे मल्टीमीडिया कंटेंट भेजा जा सकेगा।

Read Also:-

D2M Technology के लिए Government क्या कर रही है ?

D2M Technology को लागू करने के लिए दूर संचार विभाग (Department of Telecommunications) ने स्पेक्ट्रम बैंड की स्टडी करने के लिए एक कमेटी का गठन किया है। प्रसार भारती ने इसका परीक्षण करने के लिए IIT Kanpur के साथ मिलकर काम करने की घोषणा की है।
दूर संचार विभाग के सेक्रेटरी राजारमन का कहना है कि बैंड 526-582 मेगाहर्ट्ज मोबाइल और ब्राडकास्ट दोनों सर्विसेज के लिए काम कर सकता है।

आज हम इस पोस्ट में D2M Technology के बारे में बताएं। उम्मीद है यह पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी, तो अपने दोस्तों में शेयर जरुर करें ।

Previous article105 Amazing Facts in Hindi | मजेदार और रोचक तथ्य
Next article15 Home Remedies for Stomach Worms : पेट के कीड़े का घरेलू इलाज :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here